Facebook

Subscribe for New Post Notifications

Categories

Ad Home

BANNER 728X90

Labels

Random Posts

Recent Posts

Recent in Sports

Header Ads

test

Popular Posts

Pages

Business

Fashion

Business

[3,Design,post-tag]

FEATURED POSTS

Theme images by Storman. Powered by Blogger.

Featured post

पंचतंत्र कहानियाँ Hindi stories for kids panchatantra

हम लाये है आप के लिए panchtantra ki kahaniya या फिर कहे bachon ki kahaniyan in hindi इस आर्टिकल में आप को moral stories for childrens in hi...

Featured

Tuesday, 13 October 2015

TB Bimari Ke Lakshan - TB Symptoms, Treatment & Prevention In Hindi

tb ke lakshan in hindi या फिर tb symptoms in hindi इन दोनों के जवाब आप को मिलेंगे इस पोस्ट मे .जब किसी को tb बीमारी हो जाती है तो वो सोचता है tb me kya khana chahiye या फिर tb ki bimari me kya khaye या फिर diet for tb patient in Hindi अब आप को सोचना नहीं पड़ेगा क्यों की इस पोस्ट में मैंने आप को ऐसी बहुत सारी चीज़े बतायी है जो आप के लिए बहुत फायदेमंद साबित होंगी.

इस पोस्ट मे आप को Tb बीमारी के बारे कुछ ऐसी बातें पता चलेंगी जो लोगो द्वारा फैलाई गयी है.tb का full form tuberculosis है .
आपने Tb बीमारी  के बारे में सुना होगा। यह दुनिया भर में एक बहुत ही आम बीमारी है। 2015 में  Tb बीमारी के कारण 1.8 मिलियन लोग मारे गए। 18 वीं और 1 9वीं शताब्दी में यूरोप और उत्तरी अमेरिका में Tb बीमारी की महामारी फैल गई थी। अगर आपको लगता है कि आप Tb बी, के संपर्क में आ चुके हैं, तो अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करे आपका डॉक्टर के कई अलग-अलग दवाएं लिखेंगे, जो सभी टीबी बैक्टीरिया को मारने के लिए जरूरी है। आप इन दवाओं को कम से कम 6 से 9 महीने खाए । ऐसा इसलिए है क्योंकि सभी बैक्टीरिया मरने में कम से कम 6 महीने लगते हैं।टीबी रोग के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली सबसे आम दवाएं आइसोनियाज़िड, रिफाम्पिन, एथंबुटोल, और पायराज़िनमाइड हैं।

tuberculosis mycobacterium tuberculosis/Euler parasites से होने वाली बीमारी होती है.ये बीमारी ह्यूमन और जानवरों दोनों में पाई जाती है जानवरों में भी ये human से ही फैली हुई होती है. इसके फैलने का माध्यम पीड़ित व्यक्ति होता है उसका जो बल्गम होता है  उसके अन्दर जो बैक्टीरिया है हवा के द्वारा बहुत तेजी से फैलता है .

TB Symptoms, Treatment & Prevention Tips In Hindi 

टीबी से कुछ  भ्रम आज दूर कर ले


मिथक 1: वंशानुगत बीमारी है क्षय रोग।


तथ्य: जेनेटिक्स का इस बीमारी के फैलने या इससे ग्रस्त होने में कोई रोल नहीं है।


मिथक 2: टीबी एक संक्रामक बीमारी है, औऱ जो भी व्यक्ति बीमार के संपर्क में आता है, उसे यह बीमारी हो सकती है।

तथ्य: केवल पल्मनरी या लंग ट्यूबरकुलॉसिस संक्रामक होती है, और स्ट्रॉन्ग इम्यून सिस्टम वाले लोगों पर ऐसे संक्रमण का भी प्रभाव नहीं होता।


मिथक 3: यह बीमारी केवल धूम्रपान की वजह से होती है और यह केवल फेफड़ों को प्रभावित करती है।

तथ्य: टीबी होने के कई कारण हो सकते हैं और इसका असर ब्रेन, स्पाइनल कॉर्ड, आंतें, आंखें और दिल पर भी पड़ता है

मिथक 4: यह बीमारी केवल गरीब तबके के लोगों को होती है।

तथ्य: इस बीमारी का अमीरी-गरीबी से कोई लेना-देना नहीं है, न ही यह रहन-सहन के तरीके से सम्बन्धित है।
मिथक 5: यह जानलेवा बीमारी है।
तथ्य:ऐसा कुछ भी नहीं है इसका इलाज है

TB का घरेलु इलाज

TB(tuberculosis) यह एक संक्रमक बीमरी है और इसके कीटाणु (bacteria) हवा के जरिये एक से दुसरे व्यक्ति में पहुँचते है यदि इलाज ठीक से न हो तो ये रोग जान लेवा हो सकता है TB सिर्फ ही फेफड़ो से जुडी बीमारी नहीं बाकि शरीर के किसी भी अंग में हो सकती है यदि ये रोग हो तो इसका अच्छे से treatment ना करने से तो स्थति और भी गंभीर हो सकती है. आप सही से इसका इलाज करा ले जैसा भी आपके डॉ. ने आपको बताया हो तो यह रोग जड़ से मिट सकती  है. लेकिन अक्सर ये देखा गया है की अगर आपको fever, cough,छाती में दर्द, या आपका वजन कम हो रहा है तो आपको tuberculosis हो सकता है.

Tuberculosis  के लक्षण

  • भुखार
  • cough
  • छाती में दर्द
  • आपका वजन कम हो रहा है 


जादातर paitent ऐसे होते है जो 2 महीने या 3 महीने दवाई लेकर अपने आप  बिना डॉ. की सलाह लेकर दवाई लेना बंद कर देते है उनके symptoms उस time तो ठीक हो जाते है लेकिन जो बीमारी उनके शरीर के अंदर है वो जड़ से नहीं खत्म होतीं उससे क्या होता आपको थोड़े दिन के बाद वो बीमारी दुबारा वापस आ जाती है. तो अगर आप दवाई बीच में छोड़ देंगे या ठीक से नहीं लेंगे तो दवा असर नहीं करती है और यह TB multi drugs resistant TB में बाद जाती है और अगर आपको multi drugs resistant TB है तो आपकी जान को भी खतरा हो सकता है और अगर आपसे किसी दुसरे व्यक्ति को ये बीमारी लग गई तो उस पर पहले दिन से ही कोई दवाई असर नहीं करेगी.अगर आपको tuberculosis है तो आप अपने डॉ. के बताये हुए इलाज को पूरी तरीके से फॉलो करे और डॉ. की सलाह से ही दवाई बंद करे

असरदार घरेलु उपाय :-

लहसुन :- यह कीटाणुओं का नाश करती है इसमें anti बैक्टीरियल गुण होते है साथ ही यह रोगप्रतिरोधक छमता को बढाती है. इससे कच्चा या पका कर खाना चाहिए .इसको खाने का एक तरीका और है 10 लहसुन कलियों को 1 cup दूध में उबाल ले फिर उबली हुई कलियों को चबा कर खा ले और उपर से दूध पी ले ऐसा कुछ दिनों तक करे  और एक बात पानी न पीयें वरना यह असर नहीं करेगा.



सहजन :- सहजन ये आपको TB जैसे होने कई बीमारी से छुटकारा दिला सकता है  यह फेफड़ो की सुजन को कम करता है संक्रमक से राहत दिलाता है.  आप सहजन की मुठी भर पत्तियों को एक cup पानी में 5 min. तक गरम होने के लिए रख दे फिर ठंडा होने के बाद उसमे नमक, मिर्च और निम्बू निचोड़ कर रोगी को पिने के लिए दे सकते है इसे रोजाना सुबह खाली पेट पीना चाहिए इसके आलावा उबली सहजन का रोजाना सेवन करने से भी रहत मिलती है.




आंवला :- आँवला यह शरीर को कई तरह के पोषण आपके शरीर में पहंचता कर मजबूती प्रदान करता है इसका juice निकालकर इसमें एक चम्मच सहद मिलकर रोजाना खाली पेट पीने से यह बीमारी दूर होती है.

संतरा :- एक glass ताजे संतरे का juice में एक चुटकी नमक और शेहेद मिक्स करके इसे दिन में दो बार पीये.



सीताफल :- पानी में सीताफल के गूदे को 25 किसमिस के साथ उबाले जब तक पानी एक तीहाई ना हो जाय तब तक इसे पकाये फिर इस मिश्रण को छान ले और उसमे दो छोटे चम्मच चीनी और चुटकी भर इलाइची powder मिला कर ठंडा करके दिन में दो बार रोज पीये.



काली मिर्च :- काली मिर्च फेफड़े की सफाई करती है और TB की वजह से होने वाले दर्द को दूर करती है काली मिर्च के दाने को घी के साथ fry कर ले फिर उसमे के चुटकी हिंग powder डालकर  mix करके ठंडा करले इस मिश्रण को 3 भाग में बाँट दे और एक dose को हर एक घंटे में चबाएं

दोस्तों हमारा लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ रोग मुक्त भारत है इस मिशन में हमारा साथ दे और ये जानकारी अधिक से अधिक से लोगो तक पहुचाये.
ऐसे और भी टिप्स पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है इसके लिए इस लिंक पे क्लिक करे फेसबुक पेज लाइक

0 on: "TB Bimari Ke Lakshan - TB Symptoms, Treatment & Prevention In Hindi"