Facebook

Subscribe for New Post Notifications

Arquivo do blog

Categories

Ad Home

BANNER 728X90

Labels

Random Posts

Recent Posts

Recent in Sports

Header Ads

test

Popular Posts

Pages

Business

Fashion

Business

[3,Design,post-tag]

FEATURED POSTS

Theme images by Storman. Powered by Blogger.

Featured post

पंचतंत्र कहानियाँ Hindi stories for kids panchatantra

हम लाये है आप के लिए panchtantra ki kahaniya या फिर कहे bachon ki kahaniyan in hindi इस आर्टिकल में आप को moral stories for childrens in hi...

Featured

Sunday, 17 June 2018

acidity को जड़ से दूर भगाएं reduce uric acid


अगर आपको acidity परेशान कर रही है तो आप acidity treatment in hindi और acidity and gas problem solution in hindi से और acidity home remedies in hindi और इसके अलावा acidity in hindi तो इस परेशानी से बाहार निकलने के लिए इस पोस्ट के को read करें. आपको इस पोस्ट के द्वारा मदद मिलेगी.

acidity क्या है ?

हमार पेट यानि digestive system एक ऐसा तंत्र है जो अगर स्वस्त है तो हम आरोग्य रह सकते है. वरना कई परेशानियां  हमारे सामने आ सकती है acidity के रूप में गैस के रूप में constipation के रूप में और  piles के रूप में intestine disorders के रूप में ये सब एक भयंकर रूप भी ले सकती है | अगर acidic food हम जादा खायंगे जैसे  खट्टी चीज़े है बहुत जादा spicy चीज़ है चाय, कॉफ़ी , गर्म ताशीर वाली चीज़े है, alcohol है , तम्बाकू , स्मोकिंग या मिर्च-मसाले खाना बहुत जादा जलन पैदा करता है हीट पैदा करता है.

आपकी  lifestyle इसमें बहुत बाड़ा role play करती है |अगर आप रात को देर  तक जागते है और रात को जागते समय चाय या कॉफ़ी पीते रहते है या आपका रात का खाना  बहुत late हो जाता है तो इससे भी फर्क पड़ता है या आप खाना heavy खाते है.
इसके अलावा भी दवाइयां होती है जेसे की सुजन, जोड़ो में दर्द या  इन्फेक्शन हो जाता है उसकी दवाइयां अगर हम लें तो उन दवाइयों से भी acidity होती है. आमतोर पर देखा होगा जब डॉ. आपको दवाइया देते है एंटीबायोटिक भी देते है तो साथ में एक acidity की गोली भी दे देते है क्यूंकि उन दवाइयों के कारण भी acidity हो जाती है और मानसिक तनाव की वजह से भी acidity हो जाती है.
  अगर आप किसी बात की टेंशन ले रहे है या stress है सोचने का काम आपका है बहुत जादा आप अपना mind use करते है work में  उसके कारण भी acidity हो जाती है और अगर आपके  खाने का जो नियम है वो irregular है अगर आप टाइम से नहीं खाते है ब्रेकफास्ट कभी किया या कभी नहीं किया  लंच कभी  या किया कभी नही किया  इस तरह से अगर  irregularity of  eating habits भी आपकी है तो उसके कारण भी आपको acidity हो सकती है|
पेट  में जलन होना जिसे हम acidity के नाम से जानते है यह एक आम रोग है  हर 10 में से 3 व्यक्ति को acidity होती है किसी को जादा तो किसी को कम परेशानी होती है acidity को कभीं हलके में नहीं लेना चाहिए अगर इसे रोका नहीं गया तो आगे जाके  अल्सर या acidic colitis जैसी बीमारिया हो सकती है hiatus hernia के कारण भी acidity होती है तो इसलिए इसे हल्के में ना लें.
 अगर कुछ चीजों का ध्यान रखा जाय तो acidity पूरी तरह ठीक हो सकती है.

acidity के लक्षण :-


  • पेट में जलन होना
  • छांती में दर्द या जलन होना
  • खट्टा डकार आना
  • मुह में खट्टा पानी आना और जादा परेशानी हो तो मुह में पानी के साथ खून भीं आ सकता है या खाया हुआ खाना भी सकता है.
  • कब्ज रहना |
  • या डकारे ऐसे भी आना जरुरी नहीं है की आपको जब खट्टी डकारे आए तभी acidity  हो अगर आपको normal भी डकारे आ जाती है तो ये भी  acidity का ही लक्ष्ण माना जाता है|
  • पेट में हल्का सा दर्द  भी कभी कभार हो सकता है खासतोर से नाभि के उपर वाले हिस्से में  अगर आपको pain होता है या जलन होती है तो ये acidity के लक्षण है|
  • acidity के कारण गले में जलन होना , सुजन आ जाना , खांसी होना या बेचैनी होना ये खटास जब ख़ोज में मिल जाते है तब बेचेनी होने लागती  है जी घबराने लगता है सांस लेने में भी दिक्कत होने लगती है|
  •  तो ये थे acidity होने के लक्ष्ण|


अगर ऐसे लक्षण आपको होते है तो इसे नज़रंदाज़ नहीं करना चाहिए क्यूंकि कई लोग इसको हलके में ले लेते है सोचते है की acidity तो comman सी problem है ये तो होती रहती है लेकिन कभी कभार हो तो कोई बात नहीं मगर अगर आपको regularly हो रही है और वो तकलीफ आपको दे रही है तो उसका उपचार करना बहुत जरुरी है इसका इलाज करना बहुत जरुरी है. अगर उसको आप छोड़ देंगे तो इस acid की वजह से आगे चलकर बहुत से गंभीर बीमरी बन सकती है.  जिनको रोकने के लिए आपको इलाज करना चाहिए  ताकि रोग आगे न बड़ पाय |



acidity का कारण :-

हमारे दिमाग में सबसे पहले यही question आता है की acidity क्यूँ हो जाती है इसका क्या कारण है |
हम जो कुछ खाना खाते है वो खाना जठर तक पहुंचने से जठर की दीवार पर आए proton pumps जठर रस release करते है. हमारे जठर यानी आमाशय(पेट) में hydro-chloride acid और pepsin नामक जठर रस का निर्माण होता है. जठर रस हमारे पाचन प्रणाली का हिस्सा है. खाना पचाने के लिए ये जरूरी  है अपेक्षा से अधिक रस का उत्पन्न होना और जठराग्नि जब खुद को ही जलाने लगे इसे हम acidity कहते है.
 भोजन नली और जठर जहा मिलते वह एक माश्पेशी  आई हुई होती है diaphragm या lower esophageal sphincter जो भोजन नली को बंधी रखती है.
 जब हम खाते पीते है तब ये खुल जाती हैं जब ये खुलती है तब जठर रस निकलने लगता है. अगर diaphragm माश्पेशी  कमजोर पड़ जाती है  और भोजन नली खुली रहती है तो अम्लपित्त रस भोजन नली  तक आता है.
 ये रस बहुत ही acidic होता है जो भोजन नली को जला देता है ये acidity या acid reflex कहलाता है,
 बार-बार भोजन नली में वो रस जाने से  भोजन नली में घाव पड़ जाता है और सुजन आ जाती है.



भोजन नली smooth होती है इनसे उल्टा हमारे जठर की दीवार कठोर होती है जो acidity के  झल्ली से जलती नहीं है जादा तीखा खाने से तीखा या मिर्ची लहसुन जैसी चीजों में capsaicin acid होता है जो जलन करता है या फिर ठीक से नहीं चबाया हुआ खान अंदर जाके खीचता है और ठीक से न चबा हुआ खाना जो होता उसके अंदर acid नहीं घुल पाता है ऐसे  बेवक्त खाने से या कम खाने से या कम पानी पीने से भी होता है जिससे पेट में acidic enzymes बड़ जाते है|

  • पेट में helicopter pylori bacteria के कारण भी acidity होती है या जठर में छालें पड़ने के कारण भी acidity होती है|
  • सर्दी जुखाम जब होता है तो acidity बहुत ही बड़ जाती है मुह में बार-बार लार बनती है और acid के कारण सर्दी भी बड जाती है ऐसी situation में 2 glass गुनगुना पानी पीके उलटी करने से acidity और सर्दी दोनों में राहात मिल जाती है.


acidity के उपाय :-

  • जादा तीखा खाना न खाय |
  • पचने में हल्का खाना खाय |
  • acid भोजन नली तक ना आय यानि acid reflex न हो diaphragm भोजन नली को बंद रखती है वो माश्पेशी मजबूत हो उसके लिए कसरत करे , योग करे |
  • खाना खाते समय पानी ना पीएं ताकि खाना ठीक से पचे और खाने के 1 घंटे बाद 1-2 लीटर पानी पीये ताकि जठर और आंते साफ़ हो जाय |
  • हरी सब्जियां खाय  जिनमे fiber की मात्रा अधिक हो आपकी ताशीर के अनिरूप खाना खाय अंकुरित किया हुआ खाना भी acidity के लिए बहुत ही अच्छा होता है.

व्यसन न करें :- त्ब्म्बाकू , चाय , शराब ये अपेक्षा से अधिक acid बनता है क्यूंकि ये अमाशय ग्रंथि को यानि proton pump को उत्तेजित करती है जिनसे hydro-chloride acid का अधिक रस निकलने लगता है तो चाय, तम्बाकू जैसी चीजों का उपयोग कम करें |

  • अमाशय में छाले ना पड़े उसका ध्यान रखे.
  •  खुरदरा खाना ना खाय
  •  fast food ना खाय
  •  चबा चबा कर खाना खाय
  • कम नींद लेने से भी पाचन प्रणाली disturb हो जाती है और उनसे कई बार acidity भी होती है.


acidity के घरेलु नुस्खे :-


  • acidic भोजन ना खाएं.
  • तम्बाकू , चाय, मिर्च, alcohol और अचार ना खाय.
  • 20 मि.ली. ठंडा दूध आधा cup पानी में घोलकर पीएं.
  • रोज सुबह-शाम मुलेठी का चूर्ण आधा-आधा चम्मच खाएं.
  • रोजाना आंवले का चूर्ण खाएं.
  • नारियल पानी और खीरे और तरबूज खाएं.
  • मलाई वाला नारियल लें.


अलोपथय दवायं आराम दे सकती है पर cure नहीं कर सकती पर तत्काल राहत के लिए ये दवाइयां जरुरी भी होती है. पर कुछ घरेलु उपचार और long term पर्हेजी रखी  जाय तो और शरीर पर ध्यान रखा जाय तो acidity बिलकुल ठीक हो सकती है.
जादा acid बन्नने से कई बार जादा उलटी होती है तो ये सबसे अच्छा है  सारी जो खट्टास है वो निकल जाती है वरना ये खट्टास खून में मिलती है और बेचेनी होने लगती है और जी घबराने लगता हैं और सांस लेने में भी दिक्कत होती है. हड्डियों में और जोड़ो में अगर ये चली जाय तो गठिया जेसे रोग भी हो सकता है.
 खून के साथ जहा जाती है ये उस जगह को effect करती है.   


                                           

  • दूध के साथ इलाइस्ची डालकर पीएं जिनसे तत्काल राहत मिल जाती है.
  • Alovera का juice पीयें ये दुनिया भर में acidity के इलाज एवं digestion system को ठीक रखने के लिए उपयोग में आता है .
  • पुदीने का रस पीयें ये बहुत ही लाभकारी है, गाजर का रस पीयें और अनानास खाए ये बी acidity और पाचन प्रणाली के लिए बहुत ही अच्छा है .
  • केला , अनार , काली द्राक्ष , बादाम ये सारी चीज़े खाय.
  • तुलसी के पत्ते वो भी acidity में बहुत ही अच्छे होते है . 
  • सोंफ acidity में राहत देते है इसे चबाये या इसका शरबत बनाकर acidity  के दोरान पीये.
  • सतवारी चूर्ण के अन्दर शहद मिलाकर  खाने से ये acidity को  ठीक कर देता है .
  • नीम के पत्तों को धो कर उसे उबाल ले फिर उस पानी को पीने से acidity ठीक हो जाती है और पेट में वायरल इन्फेक्शन के कारण भी अगर acidity हुई होती है वो भी ठीक हो जाता है.
  • H.pylori अगर ऐसी कोइ तकलीफ हो तो नीम का रस पीने से ठीक हो जाती है



acidity में क्या ना खाएं:-

  • चाय,कॉफ़ी, मिर्च-मसाले, अचार, खटाई, चटनी, alcohol, स्मोकिंग, non-veg, गर्म चीज़े नहीं खानी है.
  • थोडा खाइए over eating मत करिए.

दोस्तों हमारा लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ रोग मुक्त भारत बनाना है हम चाहते है की अधिक से अधिक लोगो तक हेल्थ की जानकारी पहुचे 
इसके लिए आप हमारा सहयोग करे,खुद पढ़े और दुसरो को पढाये.आप हमारे फेसबुक पेज को भी लाइक कर सकते है इसके लिए इस लिंक पे क्लिक करे फेसबुक पेज
या फिर अगर आप फ़ोन से ये जानकारी पढ़ रहे है तो सब से निचे फेसबुक लाइक करने का बटन है अगर आप कंप्यूटर से पढ़ रहे है तो साइड मे आप को फेसबुक लाइक 
का बटन दिख जायेगा.


0 on: "acidity को जड़ से दूर भगाएं reduce uric acid"