Facebook

Subscribe for New Post Notifications

Arquivo do blog

Categories

Ad Home

BANNER 728X90

Labels

Random Posts

Recent Posts

Recent in Sports

Header Ads

test

Popular Posts

Pages

Business

Fashion

Business

[3,Design,post-tag]

FEATURED POSTS

Theme images by Storman. Powered by Blogger.

Featured post

पंचतंत्र कहानियाँ Hindi stories for kids panchatantra

हम लाये है आप के लिए panchtantra ki kahaniya या फिर कहे bachon ki kahaniyan in hindi इस आर्टिकल में आप को moral stories for childrens in hi...

Featured

Friday, 13 July 2018

वो बेवफा निकला true love stories in real life in Hindi

आज इस पोस्ट में आप को एक real life love stories in hindi पढने को मिलेगी.आप इसको अपने भाषा में true love story in hindi heart touching या फिर emotional story in hindi या फिर real love story भी बोल सकते है.इस पोस्ट मे एक ऐसी love story hindi mein दि है जिसे पढने के बाद आप की आँखों में आशू आ जायेंगे.

ये बात तब की है जब में स्कूल में पढ़ती थी. मै क्लास 10th में थी और  एक गर्ल्स स्कूल में पढ़ती थी.मै अपने दोस्तों के साथ कोचिंग पढने जाती थी .

मेरी सारी दोस्त मेरे घर के आस-पास रहती थी और हमारा लगभग 8 लडकियों का ग्रुप था . हमारी कोचिंग रोज शाम को 6 बजे होती थी .हमारी कोचिंग मेरे घर से 1 किलोमीटर दूर थी हम पैदल जाते थे मस्ती करते हुए.
मैंने नोटिस किया की एक लड़का रोज मुझे देखता है जब कोचिंग जा रही होती थी.लगभग 1 महीने हो गये थे वो लड़का रोज हमारे रास्ते में मिलता और मुझे देखता था .
एक दिन  मैंने उसको एक लड़के साथ देखा जिसको मै जानती थी और मेरी एक दोस्त का कजिन भाई था .एक बार वो अपनी कजिन से मिलने आया था तब मैंने उस से पूछ लिया की वो लड़का कौन है जो तेरे साथ रहता है ?
तब उसने कहा "वो मेरा दोस्त है और तुम्हारे घर से थोड़ी ही देर पे उसका भी घर है"
अगले दिन जब मै कोचिंग  गयी तो मै चौक गयी वो हमारी कोचिंग  में था और सर से बात कर रहा था .तब मुझे पता चला की वो क्लास 11th में है और वहा पे कोचिंग की बात करने आया है .

उसने हमारी  कोचिंग  जॉइन कर ली थी. अब रोज मेरे से थोड़ी दूर पे बैठा करता था और चुप -चुप के मुझे देखता था .ये बात मेरी सारे दोस्तों को पता चल गयी थी की वो लड़का मुझे लाइन देता है .ऐसे ही 4 महीने निकल गये वो रोज मुझे रास्ते में मिलता और फिर कोचिंग  में  मिलता .अब मै उसको लाइक करने लगी थी मेरा मन करता था की वो आ के मुझसे बात करे लेकिन वो इतना डरता था की कभी आया ही नहीं बात करने.
फिर अचानक से उसने कोचिंग  आना बंद कर दिया तब मुझे पता चला की उसकी कोचिंग  के लडको से लड़ाई हो गयी थी .

अब वो मुझे रोज रास्ते में मिलता जब मै कोचिंग जाती और फिर जब वापस आती.एक दिन उसने आ के मुझे रोक लिया  कोचिंग के बाहर और बोला "मुझे तुमसे बात करनी है "
मै बहुत डर गयी क्यों की हमारे सर और पापा अच्छे दोस्त थे.अगर हमारे सर देख लेते तो घर पे शिकायत कर देते . मुझे डर लग रहा था की कही वो घर पे ना बोल दे .इसलिए मैंने जल्दबाजी में बोल दिया "मुझे तुमसे कोई बात नहीं करनी है "
वो चला गया फिर मेरी दोस्त लोग कहने लगी इसको सही करना पड़ेगा ये जादा परेशान कर रहा है .
मै उनसे कह नहीं पाई की मै भी उसे लाइक करती हु और मैंने झूट बोल दिया की हाँ इसकी वाट लगानी है .मेरे ग्रुप  में 4 लडकिया मेरे पड़ोस में रहती थी मुझे डर था की वो किसी को बता ना दे इसलिये मैंने झूट बोल दिया की मै उस लड़के से परेशान हो गयी हु .इसको सही करते है .
फिर एक बार वो हमे रास्ते में मिल गया हमने उसको घेर लिया और फिर मेरी एक दोस्त कहने लगी बोलो "तुमे क्या बात करनी है "
उसने बोला "कुछ नहीं बात करनी है"
तब मेरी दोस्तों ने उसको वही रोड पे बहुत सुनाया और फिर वो चला गया .मै कुछ नहीं कर पाई बस खड़े हो के देखती रही .
अब वो हमे नहीं मिलता था बस कभी-कभी ही दिखता था .ऐसे ही 2 साल हो गये हम सब  12th क्लास में आ गये थे.मुझे उसके दोस्त से पता चला की वो पढने के लिए बाहर चला गया है.मै उसे अभी भी लाइक करती थी  और मैंने किसी को अपना bf नहीं बनाया था .
एक बार मै अकेले मार्किट गयी थी सामान लेने और मुझे वो दिख गया एक शॉप पे .मै भी उसी दुकान पे चली गयी उसने मुझे देखा और hey बोला.
मैंने भी hello बोला फिर उसने कहा "यार सॉरी मैंने तम्हे बहुत परेशान किया था एंड मैंने तुम्हे कोचिंग  के बाहर रोका तुम्हारी घर पे शिकायत भी हो सकती थी  और फिर रास्ते में सब के सामने रोक दिया तुम्हारे घर का कोई देख लेता तो तुमे प्रॉब्लम हो जाती "
मैंने कहा "छोड़ो यार जो हो गया उसकी बात क्यों करे"
फिर हमारी और भी बातें हुई और उसने मेरा नंबर लिया .अब हमारी रोज बातें होने लगी और एक दिन उसने मुझे प्रोपोस किया मैंने हाँ कर दिया .
अब हम दोनों खूब बातें करते थे और मिलते भी थे .एक दिन उसने मुझे किस किया ये मेरा पहला एहसास था किस का मुझे ऐसा लगा की मुझे बिजली सी लग गयी हो.


ऐसे ही हमारी मुलाकाते बढती गयी और हमारा प्यार भी बढता गया  और हम शादी के सपने देखने लगे थे.
एक बार वो मुझे बोला "मेरे ऑफिस चलो वहा बैठते है ऑफिस  पर कोई नहीं है ऑफिस की चाबी मेरे पास है.ऑफिस  सन्डे को बंद रहता है .इधर -उधर जायेंगे तो कोई देख लेगा तो हमे प्रॉब्लम हो जाएगी" .

मै उसके साथ चली गयी और फिर हमारे बीच सब कुछ और गया हमने सारी हदे पार कर दी थी .ऐसे ही मुझे वो 4 बार ले कर गया और पूरा दिन मेरे साथ बिताया .फिर उसका कॉलेज ओपन हो गया और वो चला गया और  फिर उसके  अगले दिन उसका एक मेसेज आया "ये बदला था मेरी उस दिन की बेज्ज़ती का जो मैंने तुमसे ले लिया.मै तुमसे कोई प्यार नहीं करता हु .मैंने उस दिन सोच लिया था की तुमसे हिसाब बराबर करूँगा."
मै पूरी तरह टूट चुकी थी मै खूब रोयी मुझे अपने आप से नफरत हो रही थी .मुझे कई महीने लग गये इस से उबरने में अब जा कर में उसे भूल पाई हु.
आज तक मुझे लगता था की शायद वो मेरे पास वापस आयेगा लेकिन अभी कुछ महीने पहले उसकी शादी हो गयी.

मेरा आप सब से निवेदन है की आप किसी की लाइफ से खिलवाड़ ना करे और मै उस लड़के को एक बार एहसास कराना चाहती हु की उसने कितना गलत काम किया है.लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा है की क्या करू ?अगर आप के पास कोई आईडिया है तो कमेंट कर के मुझे बताये प्लीज.
ये था मेरा पहला प्यार जो नाकाम रहा
इस तरह की और कहानियो के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे इसके लिए इस के लिये क्लिक फेसबुक पेज लाइक
इस तरह की और कहानिया

0 on: "वो बेवफा निकला true love stories in real life in Hindi"