Facebook

Subscribe for New Post Notifications

Categories

Ad Home

BANNER 728X90

Labels

Random Posts

Recent Posts

Recent in Sports

Header Ads

test

Popular Posts

Pages

Business

Fashion

Business

[3,Design,post-tag]

FEATURED POSTS

Theme images by Storman. Powered by Blogger.

Featured post

पंचतंत्र कहानियाँ Hindi stories for kids panchatantra

हम लाये है आप के लिए panchtantra ki kahaniya या फिर कहे bachon ki kahaniyan in hindi इस आर्टिकल में आप को moral stories for childrens in hi...

Featured

Friday, 14 September 2018

2 ऐसी कहानी जो आपकी सोच बदल दे motivational story in hindi

इस पोस्ट में आपको success story in hindi या  hindi kahani या फिर kahaniya hindi mai और inspirational stories for students अगर आप इस kahaniya को पढेंगे तो आप भी बहुत कुछ सीख सकते है और अपनी लाइफ success पा सकते है.



                                                 कहानी 1 : संकल्प

क्या आपने कभी सोचा है जो सफल लोग होते है उनके पास ऐसी कौनसी वो खूबी होती है जो उनको सफल बना देती है लेकिन वही कुछ लोग छोटी-छोटी सफलताओं को लेकर भी तरसते है.
जो सफल लोगो की खूबी है "NEVER GIVE UP ATTITUDE"  जो उनको सफल के मुकाम तक ले जाती है. कभी ना हार मानने वाला जज्बा तो इस कहानी में भी हम पढेंगे की "NEVER GIVE UP ATTITUDE" कैसे हमारी लाइफ में वो सब कुछ दिला सकता है जिसकी हम कल्पना कर सकते है.

NEW YORK सिटी के बारे में तो सबने सुना ही है NEW YORK सिटी से महज 2 किलोमीटर की दूरी पर एक  Island है पहले इस Island पर Manhattan New York आने-जाने का रास्ता था जिसकी वजह से लोगो को बहुत परशानी  का सामना करना पड़ता था.
ऐसी एक परेशानी जॉन रोबलिंग को हुई और वे इंजिनियर थे तब उन्हें लगा कितना अच्छा होगा अगर New York और Manhattan के बीच में एक ब्रिज बना दिया जाए और इस वजह से लोगो का काफी समय, कोशिश और पैसा बचाया जा सकेगा.
1883 में आज जैसी advance technology नहीं थी सारे काम manually करने होते थे और उस पानी के ऊपर ब्रिज बनाना आसान काम नहीं था इसलिए उनके आईडिया पर उनके साथ के सारे engineers ने उनका मजाक उड़ाया और कहा की वो project नामुमकिन है और वो भी इस विचार को दिमाग से निकाल दे इसके बाद उन्होंने काफी लोगो को approach किया लेकिन सभी ने इस project से हाथ खड़े कर लिए.
जॉन रोबलिंग अपने बेटे वाशिंगटन को मनाने में कामयाब रहे वाशिंगटन  भी इंजिनियर थे और वह अपने पिता के इस project का हिस्सा बन गए दोनो ने मिलकर project को तैयार किया कुछ काम करने वाले लोगो को और कुछ दुसरे engineers को बहुत मुश्किल से काम करने के लिए मना लिया.


आखिरकार उस समय दुनिया के सबसे बड़े ब्रिज बनाने का काम शुरू हो गया सबकुछ सही चल रहा था की अचानक construction के दौरान एक एक्सीडेंट हुआ और जॉन पूरी तरह से जख्मी हो गए और चोट के दरान कुछ ही दिनों बाद उनकी म्रत्यु हो गई उस time सब कुछ रुक गया था थम सा गया था सबको लगा की जॉन का सपना सिर्फ सपना ही रह जाएगा लेकिन उनके बेटे वाशिंगटन रोब्लिंग जिन्हें शायद हार मंजूर नहीं थी और उनके लिए उनके पिता का सपना साकार करना सबसे बड़ी चीज़ थी और फिर उस project पर काम जारी किया गया कुछ दिन तो बहुत अच्छा चला लेकिन फिर अचानक एक दिन फिर से एक एक्सीडेंट हुआ और उस एक्सीडेंट ने वाशिंगटन को पूरी तरह अपाहिज बना दिया उनकी पूरी body paralyzed हो गई लेकिन अब तो जॉन सिर्फ बिस्तर पर पड़े रह सकते थे और महीनो बाद जॉन को अचानक याद आया की भले ही उनकी पूरी body paralyse है लेकिन एक ऊँगली तो अभी भी काम कर रही है ना और उन्होंने सोचा की अभी तो मेरी ज़िन्दगी है अभी भी वो सबकुछ किया जा सकता है और वह उसी उंगली को use करेगा और project को पुर करेगा.
उन्होंने अपनी वाइफ एमिली को अपने पास बुलाया और उनके हाथ पर उंगली से scretch किया लेकिन एमिली उस समय कुछ समझ ना सकी पर कुछ दिनों की कोशिश के बाद दोनों के बीच बातचीत के लिए कुछ coding  develop हुए और वाशिंगटन अब अपनी बात एमिली  को अच्छे से scretch करके समझा सकते थे.
उन्होंने अपनी वाइफ को कह के सारे engineers बुलाए एमिली ने सारे engineers को बुलवाया और project को कैसे आगे करना ये उनलोगों को समझाया और फिर एक बार project शुरू हुआ और 13 साल तक वाशिंगटन बस्तर पर पड़े रहे और सिर्फ एक उंगली की मदद से सबको guide करते गए और अंततः दुनिया का सबसे बड़ा ब्रिज ....... लोगो के सामने था.
जहाँ लोग एसे समय में सिर्फ अपने अंत का इन्तीज़र करते है  "एसे में वाशिंगटन ने वो करके दिखाया जो कोई सोच भी नहीं सकता था सिर्फ अपने NEVER GIVE UP ATTITUDE की वजह से अपने determinantion की वजह से हम भी वो सब हासिल कर सकते है जो आप चाहते है बस पूरी मेहनत के साथ पुरे लगन के साथ पूरी निष्ठा के साथ उस काम को करते रहिए एक दिन सफलता आपको जरूर मिलेगी."



                                         कहानी 2 : भगवान मौजूद है

एक ग्राहक एक नाई की दुकान गया उसके बाल और उसकी दाढ़ी काटवाने हमेशा की तरह।
तभी आपस में दोनों की एक अच्छी बातचीत शुरू हुई और कई विषयों में दोनों की आपस में अच्छी बातें हुई।
अचानक, भगवान के विषय में बात हुई ।
नाई ने कहा: "देखो यार, मैं नहीं मानता कि भगवान मौजूद है."
ग्राहक से पूछा: "तुम ऐसा क्यों कहते हो?"।
नाई ने कहा: खैर, यह इतना आसान है; तुम बस बाहर जाना और सड़क पे देखना एहसास करना कि भगवान मौजूद नहीं है । अगर भगवान का अस्तित्व होता तो, वहां इतने सारे लोग बीमार है? और इतने सारे abandoned बच्चे? अगर भगवान है, तो वहां न तो कोई दुख में होगा और न ही कोई दर्द में। "मैं ऐसे भगवान के बारे में नहीं सोच सकता जो   यह सब देख कर भी चुप है।".
"ग्राहक एक पल के लिए सोचना बंद कर दिया और चुप हो गया लेकिन वह इस बात पर बहस नहीं करना चाहता था।
नाई ने अपना काम खत्म किया और ग्राहक दुकान से बाहर चला गया ।
ग्राहक जब नाई की दुकान के बाहर आया, उसने एक लंबे बाल और दाढ़ी के साथ गली में खड़े एक आदमी को देखा (ऐसा लगता है


कि इसंने काफी लंबे समय से उसने अपने बाल नहीं कटवाए और वह इतना गंदा दिख रहा था) ।
ग्राहक फिर से नाई की दुकान में प्रवेश किया और उसने नाई से कहा: "पता है क्या?  नाइ मौजूद नहीं है."
नाई ने पूछा: '' आप ऐसा कैसे कह सकते हैं, कैसे मौजूद नहीं है? '' ।
ग्राहक ने कहा: "ठीक है एक बात बताओ मैं यहां हूं और क्या मैं एक नाई हूं और क्या मेने अभी तुम्हारे बाल काटे है?" "नहीं!"- तो नाइ मौजूद नहीं है क्योंकि अगर होता तो वहां उस आदमी की तरह गंदे लंबे बाल और असीमित दाढ़ी वाले लोग नहीं होंगे। लेकिन "नाई मौजूद नहीं है! ऐसा तब होता है जब लोग मेरे(नाई)के पास नहीं आते हैं"।
"यही तो बात है! भगवान भी, मौजूद है! क्योंकि लोग मदद के लिए भगवान की ओर नहीं देखते हैं, इसलिए दुनिया में इतना दर्द और पीड़ा है."।



एसे ही और भी कहानी पढने के लिए.

2 on: "2 ऐसी कहानी जो आपकी सोच बदल दे motivational story in hindi"
  1. hi i need your template @ vickyrajstar@gmail.com aapka comment maine apne blog pe padha tha :- msgday.blogspot.in

    ReplyDelete